अधिकार अपराध समाधान की राष्ट्रीय अध्यक्ष सु श्री आरती जल्द ही FIR 135 मे हुए पुलिस भ्रस्टाचार का प्रूफ़ के साथ खुलासा करेगी*

*अधिकार अपराध समाधान की राष्ट्रीय अध्यक्ष सु श्री आरती जल्द ही FIR 135 मे हुए पुलिस भ्रस्टाचार का प्रूफ़ के साथ खुलासा करेगी*

रोहतक कोर्ट मे 18.2.2023 मामला कन्या के साथ 15 लोगो के गैंग ने मिलकर की 323,506,34,354A न्याय मागने पर कन्या को ही FIR दर्ज कर IPC 380,454 मे 5000rs झूठा चोरी आरोप लगाकर दवाब बनाया गया दोषी बचाव के लिए पुलिस अधिकारियों द्वारा लेकिन कन्या के साथ हुए हादसे की FIR दर्ज नही हुई उल्टा कन्या को पुलिस द्वारा किया प्रताड़ित
जब मामला भारत सरकार तक पहुँचा तब कन्या के मामले की FIR दर्ज हुई 18.4.2023 को (पूरे 2 महिने के बाद पुलिस प्रताड़ित सहन करने के बाद)
21.4.2023 को जज के आगे 164 के ब्यान हुए, 2.6.2023 को जांच हुई जांच मे पुलिस ने कन्या के प्रूफ़ दवा कर एक पक्षी रिपोर्ट (गलत जांच रिपोर्ट) बनाई, 14.7.2023 को अंतिम रिपोर्ट बनी, 26.9.2023 को पुलिस का कहना था रिपोर्ट कोर्ट को भेज दी है लिखित मे पुलिस ने ये जवाब दिया

भारत सरकार कानून के साथ किया खिलवाड 27.10.2023 को कोर्ट मे जजो से मिलने के बाद जज रूम मे जांच हुई जहा पता लगा पुलिस ने फ़र्ज़ी बाड़ा किया है कोर्ट मे FIR 135 का कोई रिकॉर्ड नही है/जानकर पुलिस ने सेटिंग के कारण मामला खत्म करने के लिए रिकॉर्ड दिया नही जज रूम से SHO को काल गई FIR कोर्ट मे 164 के ब्यान के बाद क्यो नही तब पता लगा पुलिस सेटिंग से FIR 135 कोर्ट से गायब है

कोर्ट मे 164 ब्यान, बेल, जांच रिपोर्ट, चालान कुछ भी पुलिस अधिकारियों द्वारा नही दिये गए 354A मे अपराधी 164 के ब्यान के बाद गिरफ्तार ही नही हुए ( SHO ने कानून ही नये बना दिया) कन्या से बात भारत सरकार तक नही पहुँचाए कन्या पर की गई झूठी cross FIR 22.8.2023 को जिसका पता कन्या को 16.10.2023 को लगा, ताकि कन्या झूठे मामले मे गिरफ्तारी के डर से FIR 135 18.4.2023 FIR दर्ज मामला 18.2.2023 पर न्याय नही मांगे मामला दवा दिया जाए पुलिस द्वारा (कन्या झूठे मामले मे गिरफ्तार होगी, कोर्ट की छत से कूद प्राण देगी लेकिन FIR 135 पर पुलिस भ्रस्टाचार खोलकर न्याय जरूर पाएगी) पूर्ण अधिकार अपराध समाधान टीम न्याय दिलाने मे साथ है

*इतना बड़ा भ्रस्टाचार पुलिस अपराधी बचाव मे क्यो कर रही है ये भारत सरकार को जवाब पुलिस देगी*