श्रीमदभागवत कथा के पंचम दिवस की रात्रिकालीन वेला मे वृन्दावन धाम से पधारे कथा व्यास श्री मुरली मनोहरज शास्त्री जी के

आलोक त्रिवेदी की रिपोर्ट

श्रीमदभागवत कथा के पंचम दिवस की रात्रिकालीन वेला मे वृन्दावन धाम से पधारे कथा व्यास श्री मुरली मनोहरज शास्त्री जी के मुखारविंद से भक्तों ने भागवत कथा का श्रवण किया व्यास जी ने गोपी चीर हरण, अघासूर, बकासूर, और गोवर्धन महाराज की महिमा का वर्णन करते हुए वृन्दावन धाम अपार रटे जा राधे राधे व अन्य सुन्दर भजन की गंगा मे भक्तों को सराबोर किया उसके गिरिराज धरण महाराज की सुन्दर झांकी भी प्रस्तुत की गई जिसमे श्री तिवारी परिवार व अन्य भक्तों ने नृत्य करते हुऐ आनंद का अनुभव प्राप्त किया इस अवसर पर कथा आयोजक राज किशोर तिवारी व अनिल तिवारी ने कथा मे आये हुए सभी श्रधालुओं का स्वागत अभिनंदन करते हुए आभार ज्ञापित किया इस अवसर पर बहुता धाम से पधारे श्री शिवाकांत दीक्षित व आचार्य धर्मेन्द्र मिश्र किंकर जी ने व्यास पीठ को नमन करते हुए दीक्षित जी ने महाराज श्री को अंग वस्त्र प्रदान कर आशीर्वाद प्राप्त किया और कथा का रसपान किया इस अवसर पर राजेश तिवारी, डॉ गया प्रसाद शुक्ल, हरिमोहन मिश्रा, मोनू पाण्डेय, प्रमोद तिवारी, आदर्श तिवारी, जय शुक्ल सहित बड़ी संख्या मे ग्रामवासी व छेत्रवासी उपस्थित रहे